Saturday, 7 November 2009

भावी प्रधानमन्त्री

पटना से बेगूसराय की ओर।

रास्ता एहसास दिला रहा है कि अभी कुछ दिन पहले एक बड़ी पार्टी की रैली हुई थी।
रा ज द (राज्य जालदल में)

जगह जगह बैनर, पोस्टर। नेताओं के स्वागत में पंक्तियाँ।
फोटो लगे हुए थे महान नेता श्री भालू प्रशाद बाअदब और उनकी वाईफ मलाई देवी की।

लेकिन यह सब तो आम बात है।
ख़ास बात जो मैंने देखि वो बस एक लाइन में लिखी हुई थी। एक बैनर...

"स्वागत है भावी प्रधानमन्त्री जी श्री भालू प्रशाद बाअदब का।"
'भावी प्रधानमन्त्री?' यह कब, कैसे कहाँ हुआ?
इनोवेशन की हद है साहब।

खैर एक पार्टी जिसके लोक सभा में सिर्फ़ 3 ऍम पी हों वो अपने नेता को प्रधानमन्त्री बना सके या न, सोचने का पैसे थोड़े लगेगा। तो सोचें ज़रूर सोचें।

हम भी स्वागत करते हैं महान नेता और भावी प्रधानमन्त्री जी का।

No comments:

Post a Comment