Tuesday, 10 August 2010

आम आदमी

आज कल ये 'आम आदमी' और उसकी बातें बहुत सुनने को मिलती हैं। पुराने ज़माने में एक अंग्रेजी जुमले का बड़ा इस्तेमाल होता था 'कॉमन मैन'। अब उसकी जगह 'आम आदमी' ने ले ली है।

पर मैं आज तक समझ नहीं पाया हूँ की ये 'आम आदमी' है क्या? ये 'आम आदमी' है कौन?
क्या ये कोई सच मुच का आदमी है या सिर्फ एक जुमला? टीवी पर कई बार वाद विवाद देखता हूँ, नेताओं के, अभिनेताओं के, आम आदमियों के। पर ये कनफूजन बढता ही जा रहा है।
है कौन ये आम आदमी? कोई नेता टीवी पर आता है और खुद को आम आदमी बताता है। कड़ोड़ों कमाने वाला अभिनेता आम आदमी है। वो मज़दूर जो दिहाड़ी पर जीता है वो कौन है? 'खास आदमी'।
कोई नेता आता है और कहता है की वो आम आदमी है। सरकारी बंगले में रहने वाला और सरकारी गाड़ी में घूमने वाला 'आम आदमी' है। लोगों की मेहनतकी कमाई को हड़पने वाला 'आम आदमी' है। तो वो सड़क पर सोने वाला कौन है? वो जो मेहनत की कमाई से टैक्स भरता है वो कौन है? 'खासम ख़ास' आदमी।

बहुत कनफूजन है भाई। कोई अगर समाधान कर सके तो कृपया करें मेरे इस असमंजस का। मैं सोचता था ये हिंदी शब्द है 'आम' 'आदमी'। लेकिन आज कल देखता हूँ अंग्रेजी बोलने वाले लोग, अंग्रेजी मैं प्रसारित कार्यक्रम भी 'आम आदमी' ही कहते हैं। पता नहीं कहाँ गया वो 'कॉमन मैन'।

न जाने कौन है ये 'आम आदमी'? वो जो पब्लिक के पैसे से आम के मज़े उठाता है? या वो जो महंगाई के कारण आम नहीं खा पाता है?

No comments:

Post a Comment